KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

अनुच्छेद 47 (article 47 poem by vinod silla)

अनुच्छेद 47

अनुच्छेद संतालिस पढ़,
                  भारतीय   संविधान|
नशा नियंत्रण सत्ता करे,
                  कर  रहा है बखान||
कर रहा है बखान,
                इसे   लागू  करवाओ|
नशों से कर के मुक्त,
             धरती को स्वर्ग बनाओ||
विनोद सिल्ला की सुन,
                   कर दो नशा निषेध|
मूल-रूप में पालना,
           हों सब के सब अनुच्छेद||

-विनोद सिल्ला©

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.