अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर दोहे

*अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस*
दोहा
नारी से है सुख  मिला, नारी से सम्मान।
बिन नारी घर घर नही, लगता है सुनसान ।।1
नारी को सम्मान दो, नारी मात समान ।
नारी से घर स्वर्ग है, सब पर देती जान ।।2
बिन घरनी के घर नहीं, बिना पुरुष परिवार ।
स्त्री पुरुष का साथ रहे, जीवन देत सवार ।।3
सुख दुःख की है संगिनी, देती प्यार दुलार ।
नारी घर की मान है, सुखी रहे परिवार ।।4
महिला विश्व दिवस मना, सभी होत खुशहाल ।
देते सभी बधाइयां, नारी होत निहाल ।।5
*डॉ. अर्चना दुबे ‘रीत’*
(Visited 1 times, 1 visits today)