अयोध्या के राम

0 5

विषय-अयोध्या के राम
विधा-ताटंक छन्द

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

पूरा कर वनवास सिय संग,
राम अयोध्या आते है।
भ्राता लखन साथ में उनके
अनुपम शोभा पाते हैं।।
🕉🕉🕉🕉
हुई अयोध्या भी सनाथ थी
रामसिया के आने से।
चारों भाई एक साथ थे
वन से फिरआ जाने से।।
🕉🕉🕉🕉
थी धरती की शोभा वे सब
देख सभी हर्षाते थे।
लंका जीत अवध में आकर
राजा राम कहाते थे।।
🕉🕉🕉🕉
वन में जाकर श्रीराम ने,
दानव मार गिराए थे।
नारी को सम्मान दिलाने
धनु भी हाथ उठाए थे।।
🕉🕉🕉🕉
अतुलित बलशाली शूरवीर
उनकी शोभा न्यारी थी।
जन जन के मन मे बसी हुई
सूरत सबको प्यारी थी।।

🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

©डॉ एन के सेठी

Leave A Reply

Your email address will not be published.