आजादी की दूसरी लड़ाई (aazadi ki dusri ladai )

#poetryinhindi,#hindikavita, #hindipoem, #kavitabahar #manibhainavratna 
जब तक रहेंगे देश में गद्दार ।
होती रहेगी प्रजा पर अत्याचार ।
करते रहेंगे छुपके भ्रष्टाचार ।
मां बेटी के संग बलात्कार ।
फिर कैसे होगा सपने साकार?
जब चुप रहेगी हमारी सरकार।
उठाएगा कौन इसे मिटाने की बीड़ा?
किसकी दिल पर हो रही ज्यादा पीड़ा?
सब साध रहे हैं अपना स्वार्थ ।
गिने चुने ही आते हैं करने को परमार्थ ।
हक से  मांगेगा कौन अपना अधिकार?
जब चुप रहेगी हमारी सरकार ।
खतरे में पड़ गई है देश की सुरक्षा।
आतंकित हो गया है बूढ़ा और बच्चा ।
इस दशा में करें क्या सरकार की बड़ाई?
लड़नी होगी फिर से आजादी की दूसरी लड़ाई।
अब भला जवान क्यों करेगा इंतजार ?
है जब चुप रहेगी हमारी सरकार।

 मनीभाई ‘नवरत्न’, छत्तीसगढ़
(Visited 4 times, 1 visits today)

मनीभाई नवरत्न

छत्तीसगढ़ प्रदेश के महासमुंद जिले के अंतर्गत बसना क्षेत्र फुलझर राज अंचल में भौंरादादर नाम का एक छोटा सा गाँव है जहाँ पर 28 अक्टूबर 1986 को मनीलाल पटेल जी का जन्म हुआ। दो भाईयों में आप सबसे छोटे हैं । आपके पिता का नाम श्री नित्यानंद पटेल जो कि संगीत के शौकीन हैं, उसका असर आपके जीवन पर पड़ा । आप कक्षा दसवीं से गीत लिखना शुरू किये । माँ का नाम श्रीमती द्रोपदी पटेल है । बड़े भाई का नाम छबिलाल पटेल है। आपकी प्रारम्भिक शिक्षा ग्राम में ही हुई। उच्च शिक्षा निकटस्थ ग्राम लंबर से पूर्ण किया। महासमुंद में डी एड करने के बाद आप सतत शिक्षा कार्य से जुड़े हुए हैं। आपका विवाह 25 वर्ष में श्रीमती मीना पटेल से हुआ । आपके दो संतान हैं। पुत्री का नाम जानसी और पुत्र का नाम जीवंश पटेल है। संपादक कविता बहार बसना, महासमुंद, छत्तीसगढ़