खो गई जो दोस्ती

0 135

खो गई जो दोस्ती

खो गई जो दोस्ती,खो जाएगी जिंदगी।
यारा जब तक जियूं , करूं तेरी बंदगी ।
हर लम्हा जब तन्हा रहूं तू याद आए।
मेरे कानों में  तेरी ,आहट सुनाएं।
तेरे विचार, सरहद पार होके भी ,
देखो मुझे आज सिखाएं।
फिर तुमसे मिलने की,  अरमां है जगी।
यारा जब तक जियूं करूं तेरी बंदगी ।।


तू मिलता , है खिलता ,लब पे मुस्कान।
खुशी तुमसे हंसी तुमसे, तुमसे ही जान।
तू दिलदार, ओ मेरे यार साथ यूं ही
रहना मेरे हाथ को थाम।
खुद को बदल दिया , देख तेरी सादगी।
यारा जब तक जियूं करूं तेरी बंदगी ।
✍मनीभाई

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.