KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

चाहत में बड़ी ताकत है

0 78

चाहत में बड़ी ताकत है

चाहत में बड़ी ताकत है।
तुझे चाहना ही चाहत है ।
तू ही है जरूरत मेरी
तू ही मन की राहत है ।
चाहत की दुनिया में आके
दुनिया से अब क्या छुपाना ।
यह चाहत छिपती नहीं
कर लो चाहे जितना बहाना ।
चाहत में तुझको ना चाहा तो लानत है ।
चाहत में …


जिया चलती नहीं चाहत के बिना ।
जिया ढलती नहीं चाहत के बिना ।
हर लम्हा अब मुश्किल है बड़ा
पर चाहत सिखाती है मरना जीना।
अब हर पल दिल में तेरे लिए दावत है।
चाहत में बड़ी ताकत है….

मनीभाई नवरत्न

Leave A Reply

Your email address will not be published.