KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

तम्बाकू रहित जीवन(tobacco less life)

#poetryinhindi,#hindikavita, #hindipoem, #kavitabahar #manibhainavratna
तम्बाकू रहित जीवन
~~~~~~~~\\~~~~~~
(रचयिता :- मनी भाई भौंरादादर )
•••••••••••••••••••••••••••••••
क्या ये वही मानव है?
जो वन्यप्राणी से बेहतर है।
जिसे ज्ञात है अपनी,
सही आहार-विहार ?
जो जानता है अपना
नफा या नुकसान ।
मेधस तंत्र सुविकसित है
के बावजूद,
है जो व्यसन के आदी।
वही करेगा नित प्रतिदिन,
समय-धन की बर्बादी ।।
गुटखा सिगरेट और बीड़ी ।
यह सब हैं मौत के सीढ़ी ।
तंबाकू में  है नशा जहर ,
जिसका सेहत पर बुरा असर।
फेफड़ा, हृदय को घात करे
और पैदा करे दमा, कैंसर।
यह जान के भी,
जो बनता है अनजान ।
उसे समझ लेना,
आज का बिगड़ा इंसान।
हो जाओ सावधान !
ये लत नहीं समझदारी ।
क्यों तुला है तबाह करने?
तेरी बची जिन्दगी सारी।
जानवर भी,
तंबाकू को मुंह न लगाए।
मानव इसे चबाकर
देखो,झूठी शान दिखाये।
ओ देश के प्रहरी !
तंबाकू रहित जीवन 
सेहत के लिए वरदान ।
आओ विरोध करें,
तंबाकू सेवन का
मिलजुल बनाएं देश महान।
••••••••••••••••••••••••••••••••••
(आओ सभी 31 मई तंबाकू विरोध दिवस के  अवसर पर तंबाकू रहित जीवन अपनायें और परिवार की खुशियां लौटायें)
 मनीभाई ‘नवरत्न’, छत्तीसगढ़