KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

माधुरी मंजरी – नटवर (Natwar)

माधुरी मंजरी ~
28/09/2019

 नटवर 

 

मधुर मिलन की चाह में ,
    गुजरी उम्र तमाम ।
         इत नटवर उत राधिका ,
               तडपत  आठों  याम ।। 1।।

प्रेम त्याग का नाम है ,
      सर्व समर्पण मौन ।
           नटवर श्याम वियोगिनी ,
               जग में  हैं अब कौन ।।2।।

मनमंदिर मूरत बसी ,
    नटवर नंद किशोर ।
         मुदित माधुरी मंजरी ,
              नित्य नमन कर जोर ।। 3।।

    माधुरी डड़सेना भखारा