यह सब जो कहते हैं ,बिल्कुल सही कहते हैं(ye sab jo kahte hai,bilkul sahi kahte hai)

#poetryinhindi,#hindikavita, #hindipoem, #kavitabahar # unity

वह कहते हैं हमें ,हम को एक होना है।
अपने विचारों से कर्मों से नेक होना है।
जातीयता और क्षेत्रीयता से ऊपर उठना है।
आतंक और नक्सल के खिलाफ जीतना है।
हर संकट की घड़ी में , हौसला रखना है।
गुलामों की जंजीरों में ,न सोना है ।
अमीरी गरीबी की खाई को भरना है।
हाथ से हाथ मिला कर विकास करना है ।
जन जन की अशिक्षा को दूर करना है ।
हम हर भारतवासी को स्वस्थ रहना है ।
गांव कस्बे तक बिजली पहुंचानी है ।
हर प्यासों की प्यास बुझानी है ।
यह सब जो कहते हैं ,बिल्कुल सही कहते हैं।

मनीभाई ‘नवरत्न’, छत्तीसगढ़

(Visited 5 times, 1 visits today)

मनीभाई नवरत्न

छत्तीसगढ़ प्रदेश के महासमुंद जिले के अंतर्गत बसना क्षेत्र फुलझर राज अंचल में भौंरादादर नाम का एक छोटा सा गाँव है जहाँ पर 28 अक्टूबर 1986 को मनीलाल पटेल जी का जन्म हुआ। दो भाईयों में आप सबसे छोटे हैं । आपके पिता का नाम श्री नित्यानंद पटेल जो कि संगीत के शौकीन हैं, उसका असर आपके जीवन पर पड़ा । आप कक्षा दसवीं से गीत लिखना शुरू किये । माँ का नाम श्रीमती द्रोपदी पटेल है । बड़े भाई का नाम छबिलाल पटेल है। आपकी प्रारम्भिक शिक्षा ग्राम में ही हुई। उच्च शिक्षा निकटस्थ ग्राम लंबर से पूर्ण किया। महासमुंद में डी एड करने के बाद आप सतत शिक्षा कार्य से जुड़े हुए हैं। आपका विवाह 25 वर्ष में श्रीमती मीना पटेल से हुआ । आपके दो संतान हैं। पुत्री का नाम जानसी और पुत्र का नाम जीवंश पटेल है। संपादक कविता बहार बसना, महासमुंद, छत्तीसगढ़