वह भारत देश कहलाता है

है विविधताओं मे एक जहाँ,
वह भारत देश कहलाता है
हिन्दु ,मुस्लिम, सिख ,ईसाई जहां, 
आपस मे भाई-भाई का नाता है।
जहाँ हाथों मे हाथ डाले सब झूमें,
वहाँ तिरंगा नभ में लहराता है।
मिल खिलाड़ी भिन्न-भिन्न  सब,
विपरीत देश के छक्के छुड़ाता है।
जहां हर धर्म, जात का सिपाही,
अपनी जान पर भी खेल जाता है।
भारत की गोली के आगे,
दुश्मन भी टिक नही पाता है।
समझ के जिसके संस्कृति को,
विदेशी भी सर झुकाता है।।
झूले सावन,मेले बैसाख,
हर का मन को हर्षाता है।
कन्या को देवी का रूप,
नदियों को माँ कहा जाता है।
रंग रूप बोली भाषा अनेक,
जहाँ सभ्यता प्रेम सिखाता है।
जहाँ प्रकृति और पत्थर भी
सम्मान से पूजा जाता है।
जहाँ का संविधान समता और, समानता की बात समझाता है।
जहाँ का इतिहास सदा
महापुरुषों की गाथा गाता है।
सिर्फ भारतवासी ही नहीं
ये जहाँ महानता दोहराता है।
है विविधताओं में एक जहां,
वह केवल भारत कहलाता है।
इंदुरानी, स.अध्यापक
जूनियर हाईस्कूल,हरियाना
जोया,अमरोहा,उत्तर प्रदेश
पिन कोड-244222
सम्पर्क-8192975925,9410865597
(Visited 3 times, 1 visits today)