1 नवम्बर शाकाहारी दिवस पर कविता

शाकाहारी दिवस पर कविता कंद-मूल खाने वालों सेमांसाहारी डरते थे।। पोरस जैसे शूर-वीर कोनमन 'सिकंदर' करते थे॥ चौदह वर्षों तक खूंखारीवन में जिसका धाम था।। मन-मन्दिर में बसने वालाशाकाहारी *राम*…

टिप्पणी बन्द 1 नवम्बर शाकाहारी दिवस पर कविता में