सज रहा गांव गली

0 62

सज रहा गांव गली

सज रहा गांव गली, सज रहा देश।
दिन ऐसा आया है ,  जो है विशेष।
दुनिया बदल रही पल पल में।
चलो आज हम भी  लगा लें रेस।
जश्न ए आजादी का ,हम मनाएंगे
चलो इक नया इंडिया, हम बनाएंगे ।
तो आओ मेरे संग गाओ, मेरे यारा
झूमते हुए लगालो ये नारा…
वन्दे मातरम….


सुनो सुनो ध्यान से, मेरी जुबानी।
तकलीफ़ो से भरी, देश की कहानी।
फिरंगियों ने की थी जो , मनमानी।
पड़ गई जिनको  भी मुंह की खानी ।
देश के वीरों का नाम, हम जगायेंगे।
चलो इक नया इंडिया, हम बनाएंगे ।
तो आओ मेरे संग गाओ, मेरे यारा
झूमते हुए लगालो ये नारा…
वन्दे मातरम….

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.