KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR
Monthly Archives

सितम्बर 2019

सूनी इक डाली हूँ-नील सुनील( suni ek dali hun)

सूनी इक डाली हूँ। सोचें सब माली हूँ।। तू खेले लाखों में। मैं पैसा जाली हूँ।। घर बच्चे भूखे हैं। मैं खाली थाली हूँ।। तू मन्नत रब की है। मैं बस इक गाली…

तुममें राम कौन है?-राहुल लोहट(Tumme Ram koun hai)

तुममें राम कौन है?मैदान खुला है,भीड़ बहुत है,जोर-जोर के जयकारे चीर रहे है आस्मां,दहन है विद्वान कामूर्खों के हाथों,सजा बार-बार क्यूं ?सवाल मन को…

अभी मैं मरा नहीं हूँ-नील सुनील (Abhi mai mara nhi hu)

अभी मैं मरा नहीं हूँ। हां देश की खातिर मर जाने की, मैंने कसम उठाई थी। जिस्म के मेरे, मर जाने पर. आंख सभी भर आई थी। जिस्म से हूं मर गया बेशक, रूह से…

महकती धरा को प्रदुषण से बचाना होगा (mahakati dhara ko…

  महकती धरा  को प्रदुषण से बचाना होगाइस नवरात्रि में एक मुहीम चलाना होगा, महकती धरा को प्रदुषण से बचाना होगा!भिन्न- भिन्न धर्म यहाँ, भिन्न- भिन्न…

दुर्गा के नौ रूप…(9 दोहे)-केतन साहू…

दुर्गा के नौ रूप...(9 दोहे)शुभारंभ नवरात्र का, जगमग है दरबार। गूंज उठी चहुँ ओर है, माता की जयकार।।शक्ति स्वरूपा मात है, दुर्गा का अवतार।दयामयी…

कलम की ताकत(kalam ki taqat)

कलम की ताकतसमझ कलम की ताकत को अब , क्या से क्या कर देती है ।कभी शांति की वार्ता लिखती , कभी युद्ध कर देती है ।।कभी किसी की प्राण बचाती , कभी प्राण ले…

माँ दुर्गा से संबंधित हाइकु-सुधा शर्मा(sudha sharma’s…

देवी मंदिर झिलमिलाते जोतलगी कतारभक्तों की भीड़ मनोभिलाषा रखें माँ के चरणफहरे ध्वज काली पीली रक्तिम माँ के आँगनविभिन्न रूपशक्ति की आराधना आत्म…

माँग भक्ति के भीख(Maang bhakti ke bhikh)

तोरन पुष्प सजाय केउत्सव माँ के द्वार!!! गीत सुरीले गूँजते,लटके बन्दनवार!!!!नाम अनेको दे दिए,माई जग में एक!!! नामित ब्रम्हाचारिणी,कर लेंना अभिषेक!!परम…

हाथ जोङकर विनय करू माँ(Hath jodkar vinay karun maa)

मंगल करनी भव दुख हरणी।माता मम् भव   सागर तरणी।हाथ जोङकर विनय करू माँ।अर्ज दास की भी सुन लो माॅ  ।निस दिन ध्यान करू मै मैया।तुम  हो  मेरी  नाव …

हे महिषासुर मर्दिनी (Hey mahishaasur mardini)

हे महिषासुर मर्दिनी ! आज फिर धरा पर आना होगा , नारी के मान , नारी की गरिमा कावसन फिर बचाना होगा ,छिपे बैठे है असुर कितनेमच्छरों सदृश मौकापरस्त कितने…