KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

कविता बहार बाल मंच ज्वाइन करें @ WhatsApp

@ Telegram @ WhatsApp @ Facebook @ Twitter @ Youtube

ऐ मेरे दिल! आके मेरे बाहों में खिल

0 124

ऐ मेरे दिल! आके मेरे बाहों में खिल

ऐ मेरे दिल! आके मेरे बाहों में खिल ।
नहीं तो हो जाएगी बड़ी मुश्किल ।

प्यार करूं मैं तुझे, दिल देना तू मुझे ।
बिन तेरे जानेमन कुछ ना सूझे ।
प्यार में हम दोनों हो जाए हिलमिल ।। 1

तेरी मीठी मीठी बातें मुझ को भा गई।
तेरी गोरी गोरी बाहें मुझ पर छा गई ।।
ले चलूँ तुम्हें वहां, जहां हो सितारों की झिलमिल ।। 2

तेरे बिना, क्या मरना क्या जीना?
मेरे बाहें थामकर झूमले हसीना।
तेरी यह अदाएं लगे मुझे कातिल ।। 3

ऐ मेरे दिल …..

मनीभाई नवरत्न

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.