KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

@ Telegram @ WhatsApp @ Facebook

@ Twitter @ Youtube

अरमान तिरंगा है – रामनाथ साहू ” ननकी

0 60

अरमान तिरंगा है – रामनाथ साहू ” ननकी

मेरी आन तिरंगा है ,
हर पहचान तिरंगा है ।
मेरा ये जीना मरना ,
सब अरमान तिरंगा है ।।

हर स्वर सप्तक बलिदानी ,
नव अभियान तिरंगा है ।
होश जोश प्रण पथ यारी ,
जन बलिदान तिरंगा है ।।

वीर बहादुर कंठों का ,
मंगल गान तिरंगा है ।
है उत्साह जवानी का ,
अब सम्मान तिरंगा है ।।

वेद ऋचाएँ गुण गाथा ,
अक्षर ज्ञान तिरंगा है ।
मातृभूमि हित पथ उन्नति ,
शुभ मुस्कान तिरंगा है ।।

ब्रह्म जागरण शुचि आर्या ,
तन मन ध्यान तिरंगा है ।
हिंद मातृभाषा हिंदी ,
रसखान तिरंगा है ।।

रामनाथ साहू ” ननकी “

रामनाथ साहू ” ननकी ” मुरलीडीह ( छ. ग. )

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.