KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

श्री नेल्सन मंडेला जी का गुणगान

श्री नेल्सन मंडेला जी का गुणगान अश्वेत प्रथा को कर नष्ट जग में मचा दिया हल-चल,मंडेला जी को गोरों ने कर दिया देश से बेदखल।बदला समय बदले लोग पर न बदले

अंतर्राष्ट्रीय न्याय के लिए विश्व दिवस -अकिल खान

अंतर्राष्ट्रीय न्याय के लिए विश्व दिवस -अकिल खान अन्याय पर जहाँ न्याय की होती है जीत, जुल्म का होता है अंत यही है यहाँ की रीत।मिलता है जहाँ सबको अधिकार,

पर्यावरण असंतुलन पर कविता-अकिल खान

पर्यावरण असंतुलन पर कविता-अकिल खान काट वनों को बना लिए सपनों सा महल, अति दोहन से भूमि में होती हर-पल हल-चल। रासायनिक दवाईयों का खेती में करते अति उपयोग,