जीत

जब तक स्वास है , करना अभ्यास है । चित से प्रयास करें , पूरी हर आस हो। परिश्रमी सच्चा जो, सफल रहे सदा वो। लक्ष्य मन में रखें, मंजिल…

0 Comments

छंद

ना भूल मन राम जी, मनु कर काज सही। मर्यादा में रहकर, कर्म फल लीजिए । शुद्ध भाव मन में, जीवन नाव ना डूबे। सदा सर्वत्र का भला, भाव शुद्धि…

0 Comments

कुंडलियाँ

कुण्डलियाँ शंका मन में मत रखो ,शुद्ध रखो आहार । हाथों को रख स्वच्छ नित, होंगे क्यों बीमार । होंगे क्यों बीमार ,नही बन आमिष भोगी । स्वस्थ निरोगी देह,…

1 Comment

सवच्छता

स्वच्छता पृथ्वी की सबसे बड़ी आवश्यकता, हो कण- कण में स्वच्छता। चलता, तैरता, उड़ता जहर , मानव हो जागरूक ..नहीं तो बरसेगा कहर। दूषित जल, थल ,वायु, कचरा- कूड़ा, प्लास्टिक…

0 Comments