KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

होली – एक प्रेमी की नज़र से (आझाद अशरफ माद्रे)

होली इस उत्सव को एक प्रेमी की नज़र से लिखा गया है। प्रेमी अपनी प्रेमिका को होली में साथ रहने और इस उत्सव को प्रेम का एक शुभ अवसर बता रहा है। प्रेमी ने…