हाइकु- द्वितीय शतक

हाइकु- द्वितीय शतक १.सत्ता का पेड़काग बनाए नीड़कोयल चूजे२.फाल्गुन संध्याबूँटे लिए बालिकाजमी चौपाल३.नदी का घाटस्नान भीड़ में वृद्धपोटली भय४.जल की प्याऊसिर पर पोटलीप्यासी बुढ़िया५.विवाहोत्सवचौपाल में मध्यस्थसिर पे बागा६.नीम की छाँवबुढ़िया…

टिप्पणी बन्द हाइकु- द्वितीय शतक में

हाइकु शतक

शतक१.खेत में डेराहाथ में मोटी रोटीदूध की डोली२तेल बिनौरीसिर पर छबड़ीगीत गुंजन३होली के रंगचौपाल पर ताशचंग पे भंग४.नीम का पेड़वानर अठखेलीदंत निंबोली५सम्राट यंत्रधूप घड़ी देखताविद्यार्थी दल६संग्रहालयकांँच बाँक्स में ‘ममी’उत्सुक छात्रा७गुलाब…

टिप्पणी बन्द हाइकु शतक में
हरिपदी छंद में गणेश  वंदन
गणेश चतुर्थी विशेषांक

हरिपदी छंद में गणेश  वंदन

हरिपदी छंद विधान- २६ मात्रा प्रति चरण चार चरण दो-दो समतुकांत हो १६, २६ वीं मात्रा पर यति चरणांत-- गुरु गुरु २२                __गणेश …

टिप्पणी बन्द हरिपदी छंद में गणेश  वंदन में
अनुगीत छंद (Anugeet chhand)- बाबू लाल शर्मा,बौहरा, *विज्ञ*
KAVITA BAHAR LOGO

अनुगीत छंद (Anugeet chhand)- बाबू लाल शर्मा,बौहरा, *विज्ञ*

विधान-- २६ मात्रा प्रति चरण चार चरण दो-दो समतुकांत हो १६,२६ वीं मात्रा पर यति हो चरणांत लघु १ हो।

टिप्पणी बन्द अनुगीत छंद (Anugeet chhand)- बाबू लाल शर्मा,बौहरा, *विज्ञ* में

घनाक्षरी छंद विधान: सूर घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’

घनाक्षरी छंद विधान:सूर घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा 'विज्ञ' सूर घनाक्षरी विधान ३० वर्ण(८८८६) प्रतिचरणचार चरण समतुकांतचरणांत की कोई शर्त नहीं है। सूर घनाक्षरी विधान का उदाहरण . __जल रक्षण__ मनुज भूल नादानी,आज…

0 Comments

घनाक्षरी छंद विधान: देव घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’

घनाक्षरी छंद विधान: देव घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा 'विज्ञ' देव घनाक्षरी विधान ३३वर्ण (८८८९) प्रतिचरणचार चरण समतुकांतचरणांत नगण१११(पुनरावृत्ति)(जैसे कदम कदम) देव घनाक्षरी विधान का उदाहरण __कदम-कदम__ लड़ें सीमा पर हम,पातकी जाएगा थम,कारवाँ…

0 Comments
घनाक्षरी छंद विधान: हरिहरण घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’
कविता बहार दिवस आधारित रचनाओं का भंडार

घनाक्षरी छंद विधान: हरिहरण घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’

घनाक्षरी छंद विधान: हरिहरण घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा 'विज्ञ' हरिहरण घनाक्षरी विधान ३२ वर्ण( ८८८८) प्रतिचरणचार चरण समतुकांतआंतरिक समान्तता अपेक्षितचरणांत लघु लघु ११ हरिहरण घनाक्षरी का उदाहरण . __परिवर्तन__ हे श्याम वर्ण…

0 Comments

घनाक्षरी छंद विधान: विजया घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’

घनाक्षरी छंद विधान: विजया घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा 'विज्ञ' विजया घनाक्षरी विधान ३२ वर्ण (८८८८) प्रतिचरणचार चरण समतुकांतआंतरिक समान्तता होचरणांत नगण १११ विजया घनाक्षरी विधान का उदाहरण __तिरंगा चाह कफन__ भारत माता…

0 Comments

घनाक्षरी छंद विधान: कृपाण घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’

घनाक्षरी छंद विधान: कृपाण घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा 'विज्ञ' कृपाण घनाक्षरी विधान ३२ वर्ण(८८८८) प्रतिचरणचार चरण समतुकांत८,८,८,८ पर यति हो, एवंचारो यति समतुकांत अनिवार्यचरणांत गुरु लघु २१ (गाल) कृपाण घनाक्षरी विधान का…

0 Comments

घनाक्षरी छंद विधान: डमरू घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा ‘विज्ञ’

घनाक्षरी छंद विधान: डमरू घनाक्षरी -बाबूलालशर्मा 'विज्ञ' डमरू घनाक्षरी विधान ३२ वर्ण(८८८८) प्रतिचरण१६,१६,वर्ण पर यतिचार चरण समतुकांतसमस्त वर्ण मात्रा विहीन हो डमरू घनाक्षरी विधान का उदाहरण हँसत नट चल पथ…

0 Comments