KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

शारदा-वंदन :मात नमन हम करें सदा ही

शारदा-वंदन :मात नमन हम करें सदा ही मात नमन हम करें सदा ही,हमें बौद्धिक दान दो।पढ़ लिख सीखें तमस मिटाएँ,ज्ञान का वरदान दो।अज्ञानता को दूर कर…

गणतंत्र गाथा

गणतंत्र गाथा पुरा कहानी,याद सभी को, मेरे देश जहाँन की।कहें सुने गणतंत्र सु गाथा, अपने देश महान की। सन सत्तावन की गाथाएँ,आजादी हित वीर नमन।रानी…

चित्र मित्र इत्र चरित्र

चित्र मित्र इत्र चरित्रचित्र रचित कपि देखकर, डरती जो सुकुमारि।नव चरित्र वनवास में, रहती जनक दुलारि।। मित्र मिले यदि कर्ण सा, सखा कृष्ण सा साथ।विजित…

धरा पुत्र को उसका हक दें -बाबूलालशर्मा विज्ञ

धरा पुत्र को उसका हक दें -लावणी छंद(१६,१४ मात्रिक) अन्न उगाए, कर्म देश हित,कुछ अधिकार इन्हे भी दो।मेघ मल्हारें दे न सको तो,मन आभार इन्हे भी दो।टीन…

छंद की परिभाषा

छंद की परिभाषा छंद शब्द 'चद्' धातु से बना है जिसका अर्थ है ' आह्लादित " , प्रसन्न होना।'वर्णों या मात्राओं की नियमित संख्या के विन्यास से यदि…