बेटी विषय पर घनाक्षरी व कुण्डलियाँ -लक्ष्मीकान्त ‘रुद्रायुष’
KAVITA BAHAR LOGO

बेटी विषय पर घनाक्षरी व कुण्डलियाँ -लक्ष्मीकान्त ‘रुद्रायुष’

बेटी विषय पर घनाक्षरी सुख औ समृद्धि कारी,होती फिर भी बेचारी,क्यों ना जग को ये प्यारी,बेटी अभिमान है।माता का दुलार बेटी,पिता का है प्यार बेटी,खुशी का संसार बेटी,सबका सम्मान है।सूना…

टिप्पणी बन्द बेटी विषय पर घनाक्षरी व कुण्डलियाँ -लक्ष्मीकान्त ‘रुद्रायुष’ में

श्रीराम स्तुति

??.. *जय श्रीराम* ..?? *तर्ज:- श्री रामचंद्र कृपालु भजु मन हरण भव भय दारुणं।* *श्रीराम स्तुति* *हरिगीतिका छन्द* *दिनांक : 18/04/2020 ( शनिवार )* कारुण्य रूप जनार्दनम राजीवलोचन सुन्दरं। आजानबाहु…

0 Comments

कोरोना चालीसा

??जय श्री राम? सादर वन्दन??? एक प्रयास *कोरोना चालीसा* लिखने का..... सादर समीक्षार्थ प्रस्तुत...... *दोहा* नर रसना के स्वाद का, कोरोना परिणाम। चमगादड़ के सूप का, मचा हुआ कोहराम।।१।। करता…

2 Comments