KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

खुशहाल हो नववर्ष – महदीप जंघेल

खुशहाल हो नववर्ष - महदीप जंघेल ➖➖➖➖➖➖➖➖➖ भूले बिसरे ,बीते कल को, भूले दुःख संताप के गम। पुलकित होगा रोम-रोम, मन हर्षित होगा अनुपम ।। रवि स्वरूप…

कोरोना कइसे भागही – महदीप जंघेल

कोरोना कइसे भागही - महदीप जंघेल दारू भट्ठी में भीड़ ल देखके,मोला लगथे अकबकासी।कोरोना बेरा मा अइसन हालत ले,लगथे अब्बड़ कलबलासी। बिहनिया ले कतार म

ऊर्जा संरक्षण-महदीप जंघेल

ऊर्जा संरक्षण - महदीप जंघेल विधा-कविता(ऊर्जा दिवस विशेष) आओ मिलकर ऊर्जा दिवस मनाएँ।ऊर्जा की बचत का महत्व समझाएँ।। टीवी,पंखा,कूलर,बल्ब में

आओ विश्व एड्स दिवस मनाएँ

आओ विश्व एड्स दिवस मनाएँरचनाकार-महदीप जंघेलविधा- कविता आओ हम सब मिलकर ,विश्व एड्स दिवस मनाएँ।इस महामारी के नियंत्रण हेतू,जन जागरूकता

स्वच्छ भारत

स्वच्छ भारत ➖➖➖➖➖ रचनाकार- महदीप जंघेल विधा- गीत (स्वच्छता गीत) स्वच्छता की ज्योति जलाना है। भारत को स्वच्छ बनाना है।। सब लोगो को समझाना है।…

पशु-पक्षियों की करुण पुकार

पशु-पक्षी हमारे मित्र होते है। उन्हें प्यार,दुलार देना एवं उनकी सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है । लेकिन हम मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए उन्हें मार देते…

ननपन के सुरता (बाल दिवस विशेष छत्तीसगढ़ी कविता)

ननपन के सुरता (बाल दिवस विशेष) ➖➖➖➖➖➖ रचनाकार-महदीप जंघेल ग्राम-खमतराई,खैरागढ़ जिला- राजनांदगांव(छ.ग) विधा-छत्तीसगढ़ी कविता पहली के बात, मोर मन ल…

शुभ धनतेरस

शुभ धनतेरस ➖➖➖➖➖ हृदय में हर्षोल्लास हो,माता लक्ष्मी जी का वास हो।खुशियों भरा हो जीवन,सुख शांति की सौगात हो।।घर में आये खुशहाली,धन संपदा की बरसात…