KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

आत्म ज्ञान

आत्म ज्ञान *** निरंकुश मन पर अंकुश लगाकर सुप्त संवेदना में चेतना जगाकर त्यागकर मन से सकल अभिमान मिलता है तभी किसी को आत्म ज्ञान निर्भय अविचल…

सेदोका की सुगन्ध-पद्ममुख पंडा स्वार्थी (sedoka ki sungandh)

सेदोका की सुगन्ध प्रचण्ड गर्मीसहता गिरिराजपहन हिमताजरक्षक वहहै हमारे देश काहमको तो है नाज़वृक्षारोपणएक अभिवादनजो बना देता  वनपर्यावरण सुरक्षित…

सच कहना-पद्ममुख पंडा स्वार्थी(sach kahna)

तांका की महक*** सच कहनाअपराध नहीं हैफिर भी लोगकहते डरते हैंयूं रोज मरते हैंसच कहनाबहुत जरूरी हैदेश हित मेंअपना स्वार्थ त्यागत्याग विद्वेष रागसच…

हाइकु मंजूषा-पद्ममुख पंडा स्वार्थी (Padmmukh panda swaarthi)

हाइकू मंजूषा 1 चल रही है चुनावी हलचल प्रजा से छल 2 भरोसा टूटा किसे करें भरोसा सबने लूटा 3 शासन तंत्र बदलेगी जनता हक बनता 4 धन लोलूप नेता हो…

युग परिवर्तन-पद्ममुख पंडा महापल्ली(yug parivartan)

युग परिवर्तनवेद पुराण उपनिषद् ग्रन्थ सबपुरुषों ने रच डालातर्क वितर्क ताक पर रख करकिया है कागज कालासदियों से इस धरा धाम मेंझूठ प्रपंच रचायामानवता को…

झूठ भी एक हकीकत है -पद्ममुख पंडा स्वार्थी (jhuth bhi ek…

झूठ भी एक हकीकत है झूठ एक सच्चाई है झूठ भी एक हकीकत है झूठ के दम पर सत्य भी हार जाता है झूठ का संसार से गहरा नाता है झूठ बोलना एक कला है झूठ ने अनगिनत…

सेदोका की सुगन्ध-पद्म मुख पंडा स्वार्थी(sedoka ki sugandh)

सत्यवादी जोपरेशान रहताअग्नि परीक्षा देतापूरी दुनियाउसे हंसी उड़ातीवो चूं नहीं करताअंधा आदमीमन्दिर चला जाताखुद को समझाताउसे देखनेजो दिखता ही नहींआंखों…

सेदोका की सुगन्ध-पद्म मुख पंडा स्वार्थी

सेदोका की सुगन्ध-पद्म मुख पंडा स्वार्थीसत्यवादी जोपरेशान रहताअग्नि परीक्षा देतापूरी दुनियाउसे हंसी उड़ातीवो चूं नहीं करताअंधा आदमीमन्दिर चला जाताखुद…

वक्त की बात वक्त पर हो जाए(waqt ki baat waqt par ho jaye)

वक्त की बात वक्त पर हो जाएकौन जाने यह वक़्त फिर आए न आएवक्त की नजाकत समझ लेना है जरूरीवक्त बड़ा बेरहम है न जाने अपने पराएसमय है बड़ा कीमती मोल कौन…

अंततोगत्वा(anttogatwa)

ऐसी है विवशतासिर्फ मुझे है पताऔर कोई भी नहीं जानताक्या है मेरे मन मेंकौन सी व्यथाबचपन से लेकरबुढ़ापे की उम्र तकपल पल सालती रही हैढेरों हैं अनुत्तरित…