रावण दहन करो (Raavan dahan karo)

रावण दहन करोभीतर के रावण का दमन करो,फिर तुम रावण का दहन करो।पहले राम राज्य का गठन करोफिर तुम रावण का दहन करो।चला लेना तुम बाण को बेशक़,जला देना निष्प्राण…

0 Comments

घर का बादशाह मजदूर हो गया( ghar ka baadshah majdoor ho gya)

पेट की आग में मजबूर हो गयाघर का बादशाह मजदूर हो गया।मना रहे अवकाश मजदूर दिवसउसे आज भी काम मंजूर हो गयादो जून की रोटी की जुगाड़ में हीमजबूर अपने…

0 Comments

नज़र आता है

नज़र आता हैहर अक्स यहाँ बेज़ार नज़र आता है,हर शख्स यहां लाचार नज़र आता है।जीने की आस लिए हर आदमी अब,मौत का करता इंतजार नज़र आता है।काम की तलाश में…

0 Comments

होलिका दहन करें(holika dahan kare)

होलिका दहन करेंबुराई खत्म करने का प्रण करेंआओ फिर होलिका दहन करें।औरत की इज्जत का प्रण करें,आओ फिर होलिका दहन करें।यहां तो हर रोज जलती है नारीदहेज कभी दुष्कर्म की…

0 Comments

औरत कमजोर है!

तुम कहते हो, औरत कमजोर है!जरा देख लो ,शहर की दीवारेंवहाँ किस मर्ज पे, अधिक जोर है।रँगी दीवारों में,बस एक ही शोर हैशुक्रवार को मिलें,हकीम बैद्य सेताकत लेने जो मर्द,कमजोर…

0 Comments

इश्क़ का महीना

इश्क़ का महीनालोग कहते हैं इश्क़ कमीना हैहम कहते हुस्न का नगीना है।देखो चली है मस्त हवा कैसीआ रहा मुहब्बत का महीना है।जनवरी संग गुजर गयी सर्दीप्यार का ये फरवरी…

0 Comments

आज का नेता

आज का नेताजहाँ बहरी सियासत है, जहाँ कानून है अंधा।करें किसपे भरोसा तब, जहाँ पे झूठ है धँधा।विचारों पे लगा पहरा,बड़ा ये ज़ख्म है गहरा,भला क्या देश का होगा,सियासी रंग…

0 Comments

तिरंगे का सम्मान

तिरंगे का सम्मानदेशभक्ति का गीत आओ फिर दुहराते हैंपावन पर्व राष्ट्र का रस्मों रीत निभाते हैं।स्वतंत्र देश के गणतंत्र दिवस पर फिर से एक दिन के अवकाश का जश्न मनाते…

0 Comments

बापू के सपना

1मेरे बापू का था सपना,स्वच्छ भारत हो अपनानहीं मैली रहे गंगा, नहीं गन्दा रहे यमुनाबने सोने की फिर चिड़ियां,कदम चूमे पूरी दुनियांनहीं लाचार हो कोई,ना हिंसा की कोई घटना।2जमीं पे…

0 Comments

बदल दो

बदल दोसाल जो बदला है तो थाली को बदल दो,कानों में लटकती हुई बाली को बदल दो।नए साल में कुछ ऐसा कमाल तो कर लोसाले को बदल दो औ साली…

0 Comments