KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

चित्र चिंतन

आज का विषय *चित्र चिंतन* दिनाँक - 17/4/20 अलौकिक स्वार्थहीन प्रेम, आत्मा का आत्मा से मिलन। सबकुछ मर्यादित और…

आत्मविश्वास

दिनाँक-12/4/20 विषय-आत्मविश्वास *आत्मविश्वास* से भरा हुआ, प्राणी जब कुछ ठाने तो। असम्भव कुछ भी बचता नहीं,…

एक दीया

*एक दीया* तिमिर का दोष मिट गया विश्वास का दीप जलाए हम नव आशा का संचार हुआ यह जंग विजित कर जाएं हम एक युग…

प्रार्थना

विषय - प्रार्थना *प्रार्थना* के शब्द पावन वीणा की ज्यों तार झंकृत निष्प्राण में जो प्राण फूंके *प्रार्थना*…

*कोरोना*

*कोरोना* *कोरोना* का रोना रोये रे मूरख इंसान जीभ स्वाद के चक्कर में बन बैठा हैवान मासूम निरीह पशुओं की…