दीपावली-बाबू लाल शर्मा,बौहरा

                   *दीपावली*

.                         (दोहा)
.                     ???
*दीपक* एक  जलाइये, तन  माटी  का  मान।
मन की करिये वर्तिका, ज्योति जलाएँ ज्ञान।।
.                    ???
*पावन* मन त्यौहार हो, तम को  करना भेद।
श्रम करिये  कारज सधे, बहे तनों से  स्वेद।।
.                    ???
*वतन*  हमारा  है सखे, मनुज रहे सम भ्रात।
सबका  सुख त्यौहार हो, सद्भावी  हो बात।।
.                    ???
*लीप* पोत अपने भवन, करना शुभ परिवेश।
गली,गाँव से प्रांत फिर,स्वच्छ बने सब देश।।
.                    ???
शुभ सबको  *दीपावली*, फैले ज्ञान प्रकाश।
शुद्ध रहे  मन भावना, करिये  देश विकास।।
.                    ???
✍©
बाबू लाल शर्मा,बौहरा
सिकंदरा, दौसा,राजस्थान
??????????
(Visited 4 times, 1 visits today)