KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

हिन्दी है महान -अकिल खान

राष्ट्रीय भाषा हिन्दी का बखान कविता के माध्यम से किया गया है।

2 639

हिन्दी है महान

हिन्दी है हमारी भाषा हिंदुस्तान की आत्मा,
हिन्दी से कोई बना विद्वान तो कोई महात्मा।
हिन्दी में है जीवन हिन्दी में है विकास,
चहूँ दिशाओं में फैलाए ज्ञान का प्रकाश।
हिन्द के निवासी हम हिन्दी है हमारी जान,
हिन्दी-हिन्द की धड़कन, हिन्दी है महान।

बंगाल से महाराष्ट्र और कश्मीर से कन्याकुमारी,
भिन्न भाषऐं हैं यहाँ लेकिन हिन्दी सबको प्यारी।
हिन्दी में है माधुर्यता हिन्दी से है पहचान,
हिन्दी-हिन्द की धड़कन, हिन्दी है महान।

हिन्दी भाषा सब को बनाता है एक,
चाहे हमारी जाति-धर्म हो अनेक।
हिन्दी है प्राचीन आर्यों की भाषा,
समझाती है भारत की परिभाषा।
हिन्दी है हिन्दुस्तान की मातृभाषा,
शांति-एकता है हिंदी की अभिलाषा।
मैं सहृदय करूँ नित्य हिन्दी का गुणगान,
हिन्दी-हिन्द की धड़कन, हिन्दी है महान।

प्रेम – सौहार्द और बढ़ाए आपसी – भाईचारा,
विश्व की सभी भाषाओं में हिंदी हैं मुझे प्यारा।
हिंदुस्तान की शान और आत्म सम्मान है हिंदी,
जैसे हिन्द – नारी की पहचान है माथे की बिंदी।
हिन्दी की महत्ता को माना है सारा जहान,
हिन्दी-हिन्द की धड़कन, हिन्दी है महान।

हिन्दी सभी बोले चाहे गोरा हो या काला,
हिंद की सरज़मीं में हिन्दी सब को पाला।
कहता है अकिल सदैव हिन्दी का करो सम्मान,
बड़ी शिद्दत से मिली है हिंदी भाषा को पहचान।
मैं लेखनी से करूं नित हिन्दी का बखान,
हिन्दी-हिन्द की धड़कन, हिन्दी है महान।

—- अकिल खान रायगढ़ जिला – रायगढ़ (छ. ग.) पिन – 496440.

Show Comments (2)