KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

जय जय देव गणेश,विघ्न हर्ता वंदन है-छप्पय छंद(Sukmoti chauhan Ruchi)

जय जय देव गणेश,विघ्न हर्ता वंदन है।

लम्बोदर शुभ नाम,शक्ति शंकर नंदन है।

सर्व सगुण की मूर्ति ,रिद्धि सिद्धि जगत मालिक।

अतुल ज्ञान भंडार,सुमंगल अति चिर कालिक।

सबके घमंड दूर कर,दिल में भरते तरलता।

इनके परम प्रताप से,मिले सदा सफलता।  

✍ सुकमोती चौहान रुचि बिछिया,महासमुन्द,छ.ग।