KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

जीवन एक संगीत है-आभा सिंह

6 726

जीवन एक संगीत है-आभा सिंह

जीवन एक संगीत है इसको गुनगुनाइए
लाखों उलझनें हो मगर हँसकर सुलझाइए
कमल कीचड़ में भी रहकर अपनी सुन्दरता ना खोता
गुलाब काँटों में भी रहकर मुस्कुराना ना भूलता
दामन से काँटे चुन-चुनकर जीवन को सफल बनाइए
जीवन एक संगीत है इसको गुनगुनाइए !!



अंगारों से भरी राहों से गुज़रकर उँचाइयों पर पहुंचिए
अंधेरों में तीर रोशनी के चलाकर सूरज जैसा चमकिए
नई कल्पनाएं करने का संकल्प लेकर स्वप्न उड़ान भरिए
शून्य से शिखर तक चलकर खुद को तराशिए
जीवन एक संगीत है इसको गुनगुनाइए !!



झंझावतों में भी फँसकर बिना झुके अडिग रहिए
पारदर्शिता हो जीवन में दुर्गण को दूर भगाइए
जो नयनों में पलते हैं उन सपनों को पुरा कर जाइए
सुन्दर सुवासित संस्कारों से पुष्प गुच्छ सजाइए
जीवन एक संगीत है इसको गुनगुनाइए !!


मौलिक एवं स्वरचित
आभा सिंह
लखनऊ उत्तर प्रदेश

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

6 Comments
  1. ALOK KUMAR SINGH says

    शानदार दीदी जी 👌👌……

  2. Jai says

    nice poem

  3. Anupam says

    सुंदर रचना

  4. Thriving Boost says

    बहुत अच्छी कविता लिखी है।

  5. Amit Singh says

    बहुत ही सुंदर कविता है. दीदी जी. 🙏

  6. आभा सिंह says

    बहुत सुन्दर