KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

छठ गीत- कवन सुगवा मार देलस ठोरवा – आशीष कुमार

प्रस्तुत हिंदी छठ गीत का शीर्षक “कवन सुगवा मार देलस ठोरवा” है जोकि आशीष कुमार, मोहनिया, बिहार की रचना है. यह उत्तर भारतीयों की आस्था की के महान पर्व छठ पर्व को आधार मानकर लिखा गया है.

0 96

छठ गीत- कवन सुगवा मार देलस ठोरवा – आशीष कुमार

कवन सुगवा मार देलस ठोरवा
ए रामा गजब भइले ना
कि आहो रामा सुगवा जुठार देलस केरवा
ए रामा गजब भइले ना

कतना जतनवा से भोगवा बनइनी
ए रामा गजब भइले ना
कि आहो रामा सुगवा जुठार देलस भोगवा
ए रामा गजब भइले ना

छोटका बबुआ जे बहंगी उठइले
ए रामा गजब भइले ना
कि आहो रामा सुगवा जुठार देलस सेउवा
ए रामा गजब भइले ना

सुगवा जे उड़ले आकाशवा
सूरुज देव पासवा
ए रामा गजब भइले ना
कि आहो रामा सूरुज देव खींचले परनवा
हो गिर गइले सुगना
ए रामा गजब भइले ना

कि सुगनी जे करेली विलपवा
सूरुज देव दीही ना आशीषवा
ए रामा गजब भइले ना
कि आहो रामा दिहले आशीष
सुग्गा उड़ले आकाशवा
ए रामा गजब भइले ना

पावन छठी मैया के व्रतवा
करे सब लोगवा
ए रामा गजब होइहे ना
कि छठी मैया दीहे आशीषवा
हो भरिहे अँचरवा
ए रामा गजब होइहे ना

Leave A Reply

Your email address will not be published.