KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

कविता बहार बाल मंच ज्वाइन करें @ WhatsApp

@ Telegram @ WhatsApp @ Facebook @ Twitter @ Youtube

माधुरी मंजरी -चरित्र

0 160

माधुरी मंजरी —
24/12/19

●◆■★ चरित्र ★■◆●

मैं मेरा का ज्ञान दे ,
मन की गाँठें खोल ।
राम चरित्र सुनाइए ,
जो अनुपम अनमोल ।।1।।

रामचरितमानस रचे ,
कवि कुल तुलसीदास ।
दोहा चौपाई सदन ,
करते राम निवास ।।2।।

सदाचार अपनाइए ,
चलिए जीवन राह ।
एक यही शुभ साधना ,
छोड़ और परवाह ।।3।।

वही अमर है जगत में ,
जिनके शील चरितव्य ।
उदाहरण अपनाइए ,
अन्य छोड़िये द्रव्य ।।4।।

धर्म ग्रंथ सुनिए सदा ,
करें उसे चरितार्थ ।
जीवन रस मिलते सदा ,
करने को पुरुषार्थ ।।5।।

— माधुरी डड़सेना ” मुदिता “

भखारा

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.