KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

Register/पंजीयन करें

Login/लॉग इन करें

User Profile/प्रोफाइल देखें

Join Competition/प्रतियोगिता में हिस्सा लें

Publish Your Poems/रचना प्रकाशित करें

User Profile

महात्मा गांधी जी पर कविता

0 1,717

महात्मा गांधी जी पर कविता



महात्मा गांधी जी पर कविता
Mahatma gandhi

निडरता थी शान उनकी,
निडरता थी पहचान ।
ब्रम्हचर्य का जीवन जीयो ,
करना है सम्मान ।।

सत्य बोलना ,चोरी न करना,
यही है उनका मान।
एकता ही है नाम उनका,
एकता ही है पहचान ।।

अहिंसा के पथ पर चलें,
और लड़े अंग्रेजो से।
देश की आजादी के लिए,
न डरे किसी से ।।

विदेशी वस्तुओ को त्यागा ,
और स्वदेशी अपनाया दिल से।
स्वालंबी रहे और,
सबके साथ रहे प्रेम से ।।


ये कोई और नहीं,
इन्हें जाना जाता है,

हमारे बापू के नाम से ।।

~ रबिना विश्वकरमा

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.