Join Our Community

Publish Your Poems

CLICK & SUPPORT

गज़ल-मौत का क्या है कभी तो आ ही जाएगी

0 305

गज़ल-मौत का क्या है

मौत का क्या है कभी तो आ ही जाएगी,,,
हयात का क्या है कभी तो खत्म हो ही जाएगी,,

सोचते रहते हैं हम तो उनके बारे में,,,
इंतजार की घड़ी कभी तो खत्म हो ही जाएगी,,

CLICK & SUPPORT

अंधेरा ही नज़र आता है हर तरफ,,,
आसमां की रात कभी तो खत्म हो ही जाएगी,,,

“सुखवीर” से बेशक प्यार करता नहीं कोई,,,
नफ़रत जमाने की कभी तो खत्म हो ही जाएगी,,,

नशे में डूबे रहते हैं दिन भर आंखो के,,,
मयखाने की शराब कभी तो खत्म हो ही जाएगी,,,
सुखवीर सिंह हरी
वाट्स एप नंबर — 9466590453

No Comments
  1. मनीभाई नवरत्न says

    वाह! बहुत सुन्दर

Leave A Reply

Your email address will not be published.