Join Our Community

Publish Your Poems

CLICK & SUPPORT

मेरा साथी कौन- दीप्ता नीमा

0 99

मेरा साथी कौन- दीप्ता नीमा

प्रेरणादायक कविता

एक दिन मुझे भगवान् मिले
मैंने उनसे पूछा कि भगवन्
आप मुझे बताएं कि मेरा साथी कौन?

CLICK & SUPPORT


मैं राही मेरी मंजिल है कौन
मैं पंछी मेरा घोसला है कौन
मैं तूफान मेरा साहिल है कौन
मैं हूँ नाव मेरा नाविक है कौन
मैं इठलाती नदिया मेरा सागर है कौन
मैं वनफूल मेरा वनमाली है कौन
मैं मिट्टी मेरा कुम्हार है कौन
मैं नश्वर शरीर मेरी आत्मा है कौन
मैं लोभी मेरी तृप्ति है कौन
मैं मोह का ताला मेरी कुंजी है कौन
प्रभु मुस्कुराते हुए बोले हे मानव
तेरा सच्चा साथी तेरा सारथी हूँ मैं


तू राही तेरी मंजिल हूँ मैं
तू पंछी तेरा घोसला हूँ मैं
तू तूफान तेरा साहिल हूँ मैं
तू चलती नाव तेरा नाविक हूँ मैं
तू इठलाती नदिया तेरा सागर हूँ मैं
तू वनफूल तेरा वनमाली हूँ मैं
तू है मिट्टी तेरा कुम्हार हूँ मैं
तू नश्वर शरीर तेरी अंतरात्मा हूँ मैं
तू परमलोभी तेरी तृप्ति हूँ मैं
तू मोह में फंसा ताला तेरी कुंजी हूँ मैं
तेरा सच्चा साथी तेरा सारथी हूँ मैं ।।


दीप्ता नीमा
इंदौर (मध्य प्रदेश)

Leave A Reply

Your email address will not be published.