KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

नंद के लाला (तांका)

0 111
नंद के लाला
ब्रज का तू गोपाला
है भोला भाला
भाये बांसुरी तेरी
छाये प्रेम घनेरी।।

-मनीभाई
नंद के लाला (तांका)
Leave a comment