KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

ऑनलाइन पढ़ाई

Prakash Bisht

ईमेल

ऑनलाइन पढ़ाई

आ गई बोर्ड परीक्षा,फिर होगी रिजल्ट की समीक्षा
पढ़ाई ने सब को कर दिया handsup,सबकी पसंद है व्हाट्सएप।
साल भर कोरोना में मस्त थे ,अब परीक्षा आने वाली है तो त्रस्त है।
शिक्षकों ने खूब समझाया पढ़ो लो बेटा ,ऑनलाइन आ जाओबेटा।
पर बेटा कहां समझता जी गुरुजी जी गुरुजी कहते कहते साल निकाल दिया।
ऑनलाइन पढ़ाई के भी अपने मज़े थे,हम ने सीरियस नहीं लिया हम गधे थे।
अब भी दिन बचे हैं भाई ,जोर लगाओ और करो बोर्ड परीक्षा पर चढ़ाई।
मां पिता की मेहनत को यूं ही नहीं है मिट्टी में मिलाना
अच्छे अंकों से पास होकर अब हमने है दिखलाना।
गुरुजी के आशीर्वाद को लेकर हमने दुनिया में है छाना
अक्ल आई तब हमने है इस बात को माना।