किसी व्यक्ति के संक्षिप्त साहित्यिक परिचय को उसका चरित्र-चित्रण कहते हैं। उसे जीवनी, चरित, चरित्र, आपबीती, जीवन कहानी जैसे कई नामों से जाना जाता है .
किसी व्यक्ति के जीवन वृत्तांतों को सचेत और कलात्मक ढंग से लिख डालना जीवनचरित कहा जा सकता है।

A short literary introduction of a person is called his / her characterization. She is known by many names such as biography, charit, character, apabiti, life story.
Writing a person’s life stories in a conscious and artistic manner can be called a lifer.

मेरा परिचय

मेरा परिचय चौबीस मई तारीख भई, उन्नीस सौ सत्ततर सन। सन्तरो देवी की कोख से विनोद सिल्ला हुआ उत्पन्न।। माणक राम दादा का लाडला, उमेद सिंह सिल्ला का पूत। भाटोल…

0 Comments

युवा रचनाकार आलोक कौशिक की संक्षिप्त जीवनी

आलोक कौशिक एक युवा रचनाकार एवं पत्रकार हैं। इनका जन्म 20 जून 1989 को एक ब्राह्मण परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम पुण्यानंद ठाकुर एवं माता का नाम सुधा…

0 Comments