KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

वीरों को सलाम

भारत की आजादी में भारत छोड़ो आंदोलन का अहम योगदान रहा है, इस आंदोलन का गुणगान कविता के माध्यम से किया गया है।

0 612

वीरों को सलाम

देख अंग्रेजी हुकूमत की उग्र तानाशाही,
बूढ़े भारत में फिर से जवानी लौट आई।
क्रांतिकारी बुद्धिजीवियों का है यह पयाम,
भारत छोड़ो आंदोलन के, वीरों को सलाम।

अंग्रेजों के अत्याचारों का था ऐसा मंजर,
कर हुकूमत भोंकते थे भारतीयों पर खंजर।
महात्मा गांधी के नेतृत्व में सफल हुआ काम,
भारत छोड़ो आंदोलन के, वीरों को सलाम।

कोई था हिंदू – मुसलमान कोई था ईसाई,
वीर भारतीयों से अंग्रेजों ने मुंह की खाई।
आंदोलन को मिली राह ऐसा था संग्राम,
भारत छोड़ो आंदोलन के,वीरों को सलाम।

‘अंग्रेजों भारत छोड़ो’ संघर्ष का था ये नारा,
आंदोलन के लिए गांधी ने सबको था पुकारा।
आजादी का गीत गाते सभी सुबह – शाम,
भारत छोड़ो आंदोलन के,वीरों को सलाम।

‘करो या मरो नारा’ का गांधी ने किया आगाज,
आंदोलन में भाग लिए सभी छोड़ – कामकाज।
अखिल भारतीय कांग्रेस का हुआ था उत्थान,
गांधी-मौलाना आजाद का होने लगा गुणगान।
आंदोलन के वीरों का जुग-जुग रहेगा नाम,
भारत छोड़ो आंदोलन के, वीरों को सलाम।

अकिल खान रायगढ़ जिला – रायगढ़ (छ.ग.)पिन – 496440.

Leave a comment