सादगी का रंग / राष्ट्रीय सादगी दिवस पर कविता

50

यहाँ राष्ट्रीय सादगी दिवस के अवसर पर एक कविता प्रस्तुत की जा रही है:

सम्बंधित रचनाएँ

सादगी का रंग

सादगी का रंग हो प्यारा,
सीधा-सादा जीवन हमारा।

चमक-दमक को भूल चलें हम,
सादगी में ही सुख पाएं हम।

कम में खुश रहना सिखाएं,
सादगी का पाठ पढ़ाएं।

भव्यता में न फंसे जीवन,
सादगी में हो सच्चा धन।

जीवन का यही है सार,
सादगी से करें सब प्यार।

नेकी और सरलता का मार्ग,
हर दिन मनाएं सादगी दिवस।

आडंबर को दूर भगाएं,
सादगी को अपनाएं।

सादगी में है सच्ची शान,
सादगी में ही है सम्मान।

राष्ट्रीय सादगी दिवस मनाएं,
सादगी का दीप जलाएं।

हर मन में बस यही विचार,
सादगी हो सबसे प्यारा उपहार।

निष्कर्ष
सादगी दिवस का यह संदेश,
हर दिल में हो सादगी का वास।

सादगी से करें प्रेम अर्पण,
सादगी हो हमारे जीवन का कर्म।

इस कविता के माध्यम से सादगी के महत्व को समझाया गया है और सादगी को अपनाने के लिए प्रेरित किया गया है। सादगी से जीवन में सुख, शांति और संतोष प्राप्त होता है, यह कविता इसी विचार को प्रस्तुत करती है।

You might also like

Comments are closed.