KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

Register/पंजीयन करें

Login/लॉग इन करें

User Profile/प्रोफाइल देखें

Join Competition/प्रतियोगिता में हिस्सा लें

Publish Your Poems/रचना प्रकाशित करें

User Profile

कविता बहार-शब्दों का श्रृंगार

विषय आधारित हिंदी कविता का लिखित संग्रह

“कविता बहार” हिंदी कविता का लिखित संग्रह है। जिसे भावी पीढ़ियों के लिए अमूल्य निधि के रूप में संजोया जा रहा है। कवियों के नाम, प्रतिष्ठा बनाये रखने के लिए कविता बहार प्रतिबद्ध है।


Recent Posts

पत्थर दिल कब पिघले

गीत/नवगीत*. (१६,१२)*पत्थर दिल कब पिघले* पत्थर दिल कब पिघले लता लता को खाना चाहे,कली कली को निँगले!शिक्षा के उत्तम स्वर फूटे,जो रागों को निँगले!सत्य बिके…

सन्नाटों के कोलाहल में

सन्नाटों के कोलाहल में सन्नाटों के कोलाहल मेंनदियों के यौवन पर पहरा।लम्पट पोखर ताल तलैयासोच रहे सागर से गहरा।।. १ज्वार उठा सागर में भारीलहरों का उतरा है…

रूठ भले कैसे गाएँगे

रूठ भले कैसे गाएँगे रूठ भले कैसे गाएँगेविलग चंद्रिका से राकेश।रश्मिरथी से बना दूरियाँकब दमके नभ घन आवेश।।नित्य शिलाओं से टकराएबहती गंगा अविरल धारनौकाएँ जल…

जय करवा मइया…..

प्रस्तुत हिंदी गीत जय करवा मइया डी कुमार– अजस्र (दुर्गेश मेघवाल बूंदी राजस्थान) द्वारा करवा चौथ पर्व पर विशेष प्रस्तुति के रूप में स्वरचित गीत है ।
kavita-bahar logo
kavita-bahar

कविता बहार का उद्देश्य

कविता बहार का उद्देश्य कवियों और पाठकों को एक ऐसा मंच प्रदान करना है. जहाँ कवियों का काव्य संकलन की जा सकें, और उसे पाठकों तक पहुँचाया जा सके। इसके माध्यम से, कवि अपने कविता का संग्रह कराके अपने पाठकों तक अपनी भाव और विचार बांट सकते हैं। वे दूसरे कवियों के सामग्री पर ध्यान केंद्रित कर अपनी काव्य रचना में निखार ला सकते हैं। तथापि इसके उद्देश्य को बिन्दुवार लिखा जा रहा है :-

  • कविता बहार कवियों को अधिक पहचान प्रदान कराता है और पाठकों को उनसे जुड़ने में मदद करता है।
  • रचना सामग्रियों को रचनाकारों, श्रेणियों , काव्य रूप, विविध भाव, काव्य विषय जैसे दिवस आधारित , मुद्दे आधारित , महान व्यक्तित्व पर आधारित आदि के अनुसार सुव्यवस्थित करने की कोशिश की गई है। इस हेतु अलग-अलग पेज निर्माण जारी है .
  • इसके अतिरिक्त, कविता बहार में कुछ लोकप्रिय कवियों के कालजयी रचनाओं को संग्रहित किया जा रहा है, ताकि कविता बहार के कवियों को दिशा निर्देश, अभिप्रेरणा मिल सके।
  • कविता बहार में किसी कवि से रचना प्रकाशन हेतु शुल्क ना ही लिया जाता है और न सीधे तौर पर उन्हें मानदेय दिया जायेगा . भविष्य में हमारी कोशिश रहेगी कि जुड़े हुए कवियों का उचित सम्मान किया जाये.
  • हमारी भावी योजना में , रचनाओं को भी हार्ड कॉपी में लाकर अलग अलग विशेषांक के नाम से प्रकाशन किया जायेगा. और उसकी 1-1 प्रति सम्बंधित रचयिता को प्रकाशन के पश्चात् उन्हें निशुल्क भेंट दिया जायेगा.
  • साईट में चलने वाले विज्ञापन स्वचालित हैं जो आपके द्वारा किये जा रहे सर्च के अनुकूल होते हैं. हमारी ओर से किसी के भावनाओं को ठेस पहुंचाने मकसद नहीं है, फिर भी हमारी ओर से साफ सुथरी विज्ञापन हेतु लगातार कोशिशे होती रहती हैं.
  • अभी वेबसाइट खर्च का भरण पोषण सही रूप से नहीं हो पा रहा है , तो ऐसे में अभी हमसे ज्यादा अपेक्षा रखना वर्तमान में संभव नहीं है.
  • समय समय पर रचनाकारों के प्रोत्साहन हेतु प्रतियोगिताएं संपन्न की जाती रही हैं अतः आप उसमें भाग लें और कार्यशाला में जुड़ने के लिए हमारे सोशल मीडिया ग्रुप को जॉइन करें .

काव्य का चयन कविता बहार की टीम के पास ही सर्वाधिकार सुरक्षित है। इस हेतु हमें कोई बाध्य नहीं कर सकता है। हम लगातार कविता बहार में उपयोगकर्ता अनुभव को बेहतर बनाने पर काम कर रहे हैं।

आशा है आप हमारे साथ इस यात्रा का आनंद लेंगे और सहयोग प्रदान करेंगे।

MANIBHAI NAVRATNA

मनीभाई नवरत्न ,बसना, छत्तीसगढ़


Show Comments (1)