यहाँ पर हिन्दी कवि/ कवयित्री आदर०अर्पित जैनके हिंदी कविताओं का संकलन किया गया है . आप कविता बहार शब्दों का श्रृंगार हिंदी कविताओं का संग्रह में लेखक के रूप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किये हैं .

होली त्यौहार
होली के रंग

आयो होली को त्यौहार-अर्पित जैन

आयो होली को त्यौहार -अर्पित जैन गली-मोहल्ला घूम घूमके, कंडा-लकड़ी लाए।दे अग्नि होलिका में, और भस्म घरे ले जाए।‌।आयो होली को त्यौहार... पिचकारी किलकारी मारे, गाल पे लाल गुलाल।हरो रंग…

0 Comments