#धर्मेन्द्र वर्मा

यहाँ पर हिन्दी कवि/ कवयित्री आदर० धर्मेन्द्र वर्मा के हिंदी कविताओं का संकलन किया गया है . आप कविता बहार शब्दों का श्रृंगार हिंदी कविताओं का संग्रह में लेखक के रूप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किये हैं .

8 मार्च अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 8 March International Women's Day

हाँ मैं नारी हूँ

कविता बहार-कविता लेखन प्रतियोगिता
कविता लेखन प्रतियोगिता-2021
प्रतियोगिता अवसर-8 मार्च, अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस
प्रतियोगिता विशेषांक-महिला जागृति‘‘हाँ मैं नारी हूँ, मैं चेहरे की हवाईयाँ ही नहीं, आज मैं हवाई जहाज भी उड़ाती हूँ’’

आया रे आया मेरे भोले का त्यौहार आया

कविता बहार-कविता लेखन प्रतियोगिता
कविता लेखन प्रतियोगिता-2021
प्रतियोगिता अवसर-फाल्गुन कृष्ण 13 महाशिवरात्रि
प्रतियोगिता विशेषांक-शिवजी की महिमा

मातृ दिवस मई (दूसरा रविवार) MOTHER'S DAY 2ND SUNDAY OF MAY MONTH

धरती पर प्रेम का दूसरा रूप है मेरी माँ – धमेन्द्र वर्मा

मातृपितृ पूजा दिवस भारत देश त्योहारों का देश है भारत में गणेश उत्सव, होली, दिवाली, दशहरा, जन्माष्टमी, नवदुर्गा त्योहार मनाये जाते हैं। कुछ वर्षों पूर्व मातृ पितृ पूजा दिवस प्रकाश में आया। आज यह 14 फरवरी को देश विदेश में मनाया जाता है। छत्तीसगढ़ में रमन सरकार द्वारा प्रदेश भर में आधिकारिक रूप से मनाया जाता है। धरती …

धरती पर प्रेम का दूसरा रूप है मेरी माँ – धमेन्द्र वर्मा Read More »

माघ शुक्ल बसंत पंचमी Magha Shukla Basant Panchami

आया रे आया बसंत आया

आया रे आया बसंत आया आया रे आया बसंत आयाआया रे आया बसंत आया।पेड़-पौधों के लिये खुशहाली लेकर आया।।आया रे आया बसंत आया। चारों तरफ छायी है खुशियाली।पेडो़ पर आयी है नयी हरियाली।।आया रे आया बसंत आया। आने वाली है रंगो की होली।बसंत की खुशी में पशु-पक्षी डोल रहे हैं डाली-डाली।।आया रे आया बसंत आया। …

आया रे आया बसंत आया Read More »

You cannot copy content of this page