यहाँ पर हिन्दी कवि/ कवयित्री आदर०दीप्ता नीमा के हिंदी कविताओं का संकलन किया गया है . आप कविता बहार शब्दों का श्रृंगार हिंदी कविताओं का संग्रह में लेखक के रूप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किये हैं .

kavita-bahar
kavita-bahar

मेरा साथी कौन- दीप्ता नीमा

मेरा साथी कौन- दीप्ता नीमा एक दिन मुझे भगवान् मिलेमैंने उनसे पूछा कि भगवन्आप मुझे बताएं कि मेरा साथी कौन? मैं राही मेरी मंजिल है कौन मैं पंछी मेरा घोसला…

0 Comments
श्रावण शुक्ल पूर्णिमा रक्षाबंधन Shravan Shukla Poornima Raksha Bandhan राखी rakhi
श्रावण शुक्ल पूर्णिमा रक्षाबंधन Shravan Shukla Poornima Raksha Bandhan

भाई-बहन का रिश्ता न्यारा- दीप्ता नीमा

भाई-बहन का रिश्ता न्यारा- दीप्ता नीमा भाई-बहन का रिश्ता न्यारालगता है हम सबको प्याराभाई बहन सदा रहे पासरहती है हम सभी की ये आसइस प्यार के बंधन पर सभी को…

0 Comments
Barsat-ya-Varsha-Ritu
Barsat-ya-Varsha-Ritu

उफ! ये सावन जब भी आता है

"उफ!ये सावन जब भी आता है" वो बचपन की मस्ती,वो तोतली बोली,वो बारिश का पानी,और बच्चों की टोली,वो पहिया चलाना और नाव बनाना,माँ का बुलाना और हमारा न आना,वो अनछुए…

0 Comments
World-Nature-Conservation-Day
World-Nature-Conservation-Day

मत करो प्रकृति से खिलवाड़-दीप्ता नीमा

मत करो प्रकृति से खिलवाड़ World-Nature-Conservation-Day मत काटो तुम ये पहाड़,मत बनाओ धरती को बीहाड़।मत करो प्रकृति से खिलवाड़,मत करो नियति से बिगाड़।।1।। जब अपने पर ये आएगी,त्राहि-त्राहि मच जाएगी।कुछ…

1 Comment