23 दिसम्बर किसान दिवस

हालत देख किसान की , बदतर होता आज
kundaliyan

हालत देख किसान की , बदतर होता आज

हालत देख किसान की , बदतर होता आज हालत देख किसान की , बदतर होता आज । कुर्सी वाले कर रहे , हैं किसान पर राज ।। हैं किसान पर…

टिप्पणी बन्द हालत देख किसान की , बदतर होता आज में

चोका – लाचार दूब- मनीभाई नवरत्न

चोका:- लाचार दूब ★★★★ हर सुबह आसमान से गिरे मोती के दाने चमकीले, सजीले दूब के पत्ते समेट ले बूंदों को अपना जान बिखेरती मुस्कान हो जाती हरा पर सूर्य…

0 Comments

कृषक मेरा भगवान – मनीभाई नवरत्न

कविता 32कृषक मेरा भगवान■■■■■■■■■■■■■■■■■■■■मैंने अब तकजब से भगवान के बारे में सुना ।न उसे देखा,न जाना ,लेकिन क्यों मुझे लगता हैकि कहीं वो किसान तो नहीं।।उस ईश्वर के पसीने सेबीज बने…

0 Comments