KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

झूठ भी एक हकीकत है -पद्ममुख पंडा स्वार्थी (jhuth bhi ek haqiqat hai)

झूठ भी एक हकीकत है 

झूठ 
एक सच्चाई है 
झूठ भी एक हकीकत है 
झूठ के दम पर 
सत्य भी हार जाता है 
झूठ का 
संसार से गहरा नाता है 
झूठ बोलना 
एक कला है 
झूठ ने अनगिनत बार 
सत्य को छला है 
झूठ का अस्तित्व 
हमेशा चुनौती से भरा है 
झूठ से सत्यवादी भी डरा है 
न्यायालय में भी 
शासकीय कार्यालय में भी 
झूठ का बड़ा दबदबा है 
उच्च अधिकारी के प्रभाव में 
सहायक कर्मी दबा दबा है 
झूठे वायदे कर 
जीत सकते हैं चुनाव 
झूठ बोलकर 
बदलते हैं बाजार भाव 
ठीक है कि झूठ बुरी बात है 
पर आजकल हर जगह 
बिछी हुई झूठ की ही बिसात है 
झूठ बोलना निंदनीय है 
मगर झूठ की अनदेखी 
खतरे की सौगात है 
झूठ को महत्व दीजिए 
संसार भी मिथ्या है 
जीवन भी नश्वर है 
झूठ की बुनियाद 
ढहती जरूर है 
पर झूठ से बचने के लिए 
सदा सावधान रहिए.

पद्ममुख पंडा स्वार्थी
पद्मीरा सदन महापल्ली
जिला रायगढ़ छत्तीसगढ़

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.