30 जनवरी शहीद दिवस पर कविता

30 जनवरी महात्मा गांधी का शहादत दिवस (शहीद दिवस)

HINDI KAVITA || हिंदी कविता

शहीदों के लिए कविता

शहीदों के लिए कविता नमन शहीदों को हंसकर जिसने बलिदानी दी ! भारत मां के बेटों ने सरहद कुर्बान जवानी की ! यह कुर्बानी भारत मां के, एक दिल में छुपी निशानी है ! भगत सुभाष शेखर जैसे वीरों की अमर लिखी कहानी है ! जिनका स्वाभिमान सरहद पर दुश्मन के आगे झुका नहीं ! …

शहीदों के लिए कविता Read More »

March 23 Martyrs Day

शहीद दिवस विशेष कविता

शहीद दिवस विशेष कविता क्या शहीद दिवस मना लेना;इस पर कोई कविता बना लेना;तस्वीर स्मारक में फूल चढ़ा देना;बच्चों को उनके बारे में पढ़ा देना;सच्ची श्रद्धांजलि हो सकती है? क्या आज जरूरत नहीं हमें,भगत,सुखदेव,राजगुरू बनने की;भारतमाँ के लिये सर्वस्व लुटाने की;उनके विचारों को अमल में लाने की;उनके सपनों के भारत बनाने की ? हम चाहते …

शहीद दिवस विशेष कविता Read More »

March 23 Martyrs Day

शहीदों की कुर्बानी पर कविता -मनोरमा जैन पाखी

शहीदों की कुर्बानी पर कविता -मनोरमा जैन पाखी पवन वेग से उड रे चेतक ,जहाँ दुश्मन यह आया है ।रखा रुप विकराल दुष्ट ने ,ताँडव  वहाँ  मचाया  है। रक्तरंजित हो गयी धरा ,निर्दोषो के खून से।जाने न पाये दुष्ट नराधमरंग दे भू उस खून से । रही सिसकती आज वसुंधरादेखे अपना दामन लाल।न जाने कितनी …

शहीदों की कुर्बानी पर कविता -मनोरमा जैन पाखी Read More »

30 जनवरी शहीद दिवस 30 January Martyr's Day

जय हिंद जय भारत

जय हिंद जय भारत जय हिंद जय भारतमाँ का आँचलरक्त रंजित हैआतंक के औजारों सेधुल जाए ।लहू का कतरा कतराहमें वो मरहम बनना हैदेश के खातिरमिट जाए हम।वही तीरबस तरकश मेंगूँज उठेपैगाम अमन काऐसी प्राचीर बनना है ।जय हिंद जय भारतजन जन का ये गान होवंदे मातरम वीर शहीदोंतुम भारत की शान होअहले वतनअब आपस …

जय हिंद जय भारत Read More »

March 23 Martyrs Day

वीर जवान पर कविता

वीर जवान पर कविता थल,नभ के बने प्रहरी,हम भारत माँ की  शान।ऐसा ही भारत माँ कामैं हुँ वीर जवान।देश की हर शरहद है,मेरे घर की आनकर्म भूमि है ,लिया है मैंने मानबूरी नजर जो मेरी माँ पर डालीले लूगाँ दुश्मन की जान।भारत माँ का मैं वीर जवान…ऋणी रहुँगा उस प्यारी माँ का जन्म दिया,बना दिया …

वीर जवान पर कविता Read More »

Mahatma gandhi

नमन बापू

नमन बापू नमन आपको बापू,  नमन हैैं बारम्बार।सविनय अवज्ञा आंदोलन चलाया,  अत्याचार के आप प्रतिकार।। खादी को किया था आपने प्यार, स्वदेशी अपनाया।सत्य, अहिंसा के हथियार से गौरों को खूब छकाया।।आजादी के परवाने थे,सत्याग्रह के आप रहे प्रतीक।नमक छोडो आंदोलन की भी चले आप लीक।। साबरमती आश्रम में जीवन गुजारा,पोरबंदर के पूत ।सादा खाया,सादा पीया, हाथों …

नमन बापू Read More »

You cannot copy content of this page