KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR
Browsing Tag

#मनीभाई नवरत्न

यहाँ पर हिन्दी कवि/ कवयित्री आदर ० मनीभाई नवरत्न के हिंदी कविताओं का संकलन किया गया है . आप कविता बहार शब्दों का श्रृंगार हिंदी कविताओं का संग्रह में लेखक के रूप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किये हैं .

आगे आगे तीजा तिहार आगे – मनीभाई नवरत्न

आगे आगे तीजा तिहार आगे - मनीभाई नवरत्न भाद्रपद शुक्ल तृतीया हरितालिका तीज Bhadrapad Shukla Tritiya Haritalika Teej ऐ भैय्या गा,  ऐ बहिनी ओ।आगे आगे तीजा तिहार आगे।। सावन भादों सुख के देवय्या।झमाझम बादर चले पुरवय्या।।डारा पाना ह सबो हरियागे।आगे आगे तीजा तिहार आगे।। झूलेना बने हे सुग्घर पटनी।धरे रहव जी दवरा के गठनी।ठेठरी खुरमी अउ…
Read More...

भादों के अंजोरी म आगे तीजा तिथि

सूत बिहनिया उठके , मय करव अस्नान ।पार्वती ओ मैंइया तोरे हावे मोला धियान ।जइसन पाये तय अपन भोला भगवान।वइसन पावव हरजनम, मय अपन गोसान। लाली चौकी फबेहे, सुग्घर भुइयां भित्ति।भादों के अंजोरी म, आगे तीजा तिथि।आसन बिराजे हे, भोलेबाबा पारबती।भादों के अंजोरी म, आगे तीजा तिथि। सोला सिंगार करव, बरत राखव निरजला।सवनाही गीत गावव, झूलव मय हर झूला।हरियर…
Read More...

मनीभाई नवरत्न की हिंदी कवितायें

मनीभाई नवरत्न की हिंदी कवितायें मनीभाई नवरत्न की हिंदी कवितायें मनीभाई नवरत्न के कविता मौत मौत क्या है ?जलती लौ का बुझ जाना।या राख हो मिट्टी में मिलना । बड़ी भयानक है ना मौत ?यह सोच ही रूह कांप उठती,कि सभी को न्योता मिलेगामौत का ,एक दिन । मौत से इतना डर क्यों ?क्या कोई इसे जानता ?एकदम करीब से ….. मौत तो नियति हैजिसे एक दिन…
Read More...

बहुत छोटे बच्चों के लिए कविता कैसी हो?

छोटे बच्चों के लिए कविता बहुत छोटे बच्चों के लिए मनोरंजक कविता लिख लेना बड़े बच्चों के लिए कविता लिखने की अपेक्षा कहीं अधिक कठिन है। छोटे बच्चों का स्वभाव इतना चंचल और मनोभावनाएँ इतनी उलझी हुई होती हैं कि बड़े उन्हें प्रायः आसानी से समझ भी नहीं पाते। उन उलझी हुई भावनाओं में रमकर और अपने गंभीर स्वभाव में उनके स्वभाव की जैसी चंचलता भरकर,…
Read More...

छत्तीसगढ़ी भोजन बासी पर गीत कविता

छत्तीसगढ़ के गाँव में बोरे बासी का बहुत ज्यादा महत्व है। मजदूर किसान सभी काम पर जाने से पहले घर से बासी खाकर निकलते हैं। बासी के महत्व को जानने वाले छत्तीसगढ़ प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल ने भी 1 मई को मजदूर दिवस के दिन बासी खाकर मजदूरों का सम्मान करने की अपील की है। अब से छत्तीसगढ़ में मजदूर दिवस को बोरे बासी दिवस के रूप में मनाया जायेगा.
Read More...

मनीभाई नवरत्न की १० कवितायेँ

मनीभाई नवरत्न की १० कवितायेँ हाय रे! मेरे गाँवों का देश -मनीभाई नवरत्न पैसा क्या है ?जलते हैं दियेमत हो उदासअब यही मंजिल सही कहते हैंकरले योगसबका भगवान वही उठ जा तू पगले हर खेल में जीतो हाय रे! मेरे गाँवों का देश -मनीभाई नवरत्न हाय रे ! मेरे गांवों का देश ।बदल गया तेरा वेश। सूख गई कुओं की मीठी जल ।प्यासी हो गई हमारी भूतल ।थम गई पनिहारों…
Read More...

मनीभाई के प्रेम कविता

मनीभाई के प्रेम कविता manibhai navratna मनीभाई के प्रेम कवितादुख की घड़ियां है दो पल कीबहकने लगा हूं क्यों आजकललमहे खुशी के बेफिक्रे जिंदगी केकुछ ऐसे जुड़े किस्से मेरे तुमसेगुलशन मेरे दिल के खिलने लगेउसकी होंठ होठों में लालीदुख की घड़ियां है दो पल कीमाना हम तेरे लायक नहींमेरे गीत अमर कर दोदो पल के रिश्तेये कोई बात है ? जो तू साथ है यह…
Read More...

मनीलाल पटेल की लघु कविता

मनीलाल पटेल की लघु कविता manibhai navratna Table of Contentsकिसके बादल?सब है संभव- मनीभाई नवरत्नतृण-तृण चुन किसके बादल? स्वप्न घरौंदे तोड़के उमड़ता, घुमड़ता ।। बिना रथ के नभ में ये घन किसे लड़ता? नगाड़े ,आतिशबाजी नभ गर्जन है शोर । सरपट ही जा रहा किसके हाथों में डोर? भीग रहे, कच्ची ईंटें पकी धान की फसल …
Read More...

मनीभाई नवरत्न की रोमांचित गीत

मनीभाई नवरत्न की रोमांचित गीत Table of Contentsप्यार मेरा तेरे लिए...क्यों ना सुने हम दिल कीमहबूब से मिलने की तमन्नागैर पर हो जाए बैरचाहा है तुमको यह बात मेरी मानमेरा जो सनम है बड़ा बेरहम हैचोरी चोरी इस दिल में आईतुझे देखा तो ना जानेबारिश की झड़ी बदन पर पड़ीराहों में खड़े हैं तेरा इंतजार हैबेदर्द जमाने तू क्या जानेये सफ़र प्यार का सुहानातुम हो…
Read More...

मनीलाल पटेल की हाइकु कविता

मनीलाल पटेल की हाइकु कविता हाइकु: बाजरा किसान खु्श~निकले फूलझड़ीबाजरा बाली।*✍मनीभाई"नवरत्न"* बाजरा खड़ी~पोषण भरपूरपके खिचड़ी।*✍मनीभाई"नवरत्न"* पोषण भरी~बाजरे की रोटियांकैल्शियम से।*✍मनीभाई"नवरत्न"* हाइकु : रसभरी 1/मीठी गोलियां~पेट को लाभ देतीरसभरियां।*✍मनीभाई"नवरत्न"* 2/बेवफा नहीं~रसभरी होठों सेचूमे…
Read More...