KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

तंबाकू निषेध दिवस पर रूद्र शर्मा की कविता

9 216

तंबाकू निषेध दिवस पर रूद्र शर्मा की कविता



जो समय से पहले सँभले,
उसका जीवन महान ।
वरना मौत कभी भी आये,

जैसे कोई हो मेहमान ।

हुक्का हो या बीड़ी !
मौत की है यह सीढ़ी !

यह किसी का दोस्त नहीं !
देता मौत, दुश्मन है यही !

रोगों की जैसे अलमारी।
हो कैंसर जैसे बीमारी !

जल्द ले लो, इससे छुटकारा !
क्योंकि,जिंदगी न मिले दोबारा !

तम्बाकू को दूर भगाओ !
देश को स्वस्थ बनाओ !

तम्बाकू निषेध दिवस पर ये आह्वान।
तम्बाकू छोड़ो वरना ,ले लेगी जान ।।

रूद्र शर्मा

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

9 Comments
  1. Ruder Sharma says

    Thank you❤

  2. Ruder Sharma says

    Thank you❤

  3. Jyoti says

    Nyc 😃👍

  4. Jyoti says
  5. Jassica says

    Amazing 👍

  6. Ruder Sharma says

    Thank you

  7. Ruder Sharma says

    Thank you mam

  8. Harshpreet kaur says

    Nyc ruder well done

  9. नीरजा शर्मा says

    Very nice message 👌👌👏👏👏👏👏👏😊God bless you beta ji .