चैत्र शुक्ल श्री राम नवमी Chaitra Shukla Shri Ram Navami

रामनिवास बने अतिसुंदर

रामनिवास बने अतिसुंदर राम का राज आएगा फिर से कि,धीरज धार बनाए चलो सब।स्वप्न अधूरा होगा नहीं बाँधव,नींव डलेगी अवधपुर में अब। गाँव जगा है समाज जगा है,जगा है जहाँ सकल जग सारा।राम निवास बनायेंगे मिलकर हम,पुनित यह सौभाग्य हमारा। गिद्धराज जटायु को तारेबेर जूठे शबरी के खाए।लाज रखे मिताई की प्रभु नेसुग्रीव को है …

रामनिवास बने अतिसुंदर Read More »