शाकाहार पर दोहे/ डॉ सुकमोती चौहान रुचि

Vegetable Vegan Fruit

शाकाहार सर्वोत्तम आहार

रोटी चावल दाल है, मानव का आहार।
शाकाहारी बन मनुज, जीवन का आधार।।

केवल शाकाहार ही, मनु शरीर अनुकूल।
पोषक तत्वों से भरा, होता सब्जी मूल।।

शाकाहारी भोज से, बढ़ता सात्विक भाव।
हो विकास बल बुद्धि का, मिटता मन का ताव।।

शाकाहारी भोज ही, होता अति स्वादिष्ट।
कंदमूल फल फूल में, पोषक तत्त्व विशिष्ट।।

सरस्वती बसती सदा, मानव जिह्वा मध्य।
सेवन कर मत मांस का, कहती रुचि निज पद्य।।

राक्षस करते मांस का, भक्षण हे इंसान।
तू मानव है इसलिए, खाना नहीं विधान।।

डॉ सुकमोती चौहान रुचि

You might also like

Comments are closed.