11 अक्टूबर अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस

बेटी विषय पर घनाक्षरी व कुण्डलियाँ -लक्ष्मीकान्त ‘रुद्रायुष’
KAVITA BAHAR LOGO

बेटी विषय पर घनाक्षरी व कुण्डलियाँ -लक्ष्मीकान्त ‘रुद्रायुष’

बेटी विषय पर घनाक्षरी सुख औ समृद्धि कारी,होती फिर भी बेचारी,क्यों ना जग को ये प्यारी,बेटी अभिमान है।माता का दुलार बेटी,पिता का है प्यार बेटी,खुशी का संसार बेटी,सबका सम्मान है।सूना…

टिप्पणी बन्द बेटी विषय पर घनाक्षरी व कुण्डलियाँ -लक्ष्मीकान्त ‘रुद्रायुष’ में
बेटियों का, करो  सम्मान ।
kavita

बेटियों का, करो सम्मान ।

बेटियों का, करो सम्मान माँ की वो प्यारी, है पिता का गुमानमिश्री सी मीठी,   है जिसकी जुबानतितली सी चमके ,  सारे घर आंगन भौंरे सा गुंजित , करे   मधुर गान।हर…

0 Comments